Translation in Hindi

On October 20th, 2019, Posted by admin, No Comments

सैस्कचेवन में बच्चों की शिक्षा

विषय सूची

1. सैस्कचेवन के स्कूलों के बारे में

2. किसी स्कूल में आपके बच्चे का पंजीकरण

3. परिवार और स्कूल किस तरह एक साथ काम करते हैं

4. अन्य कार्यक्रम और सेवाएं

1. सैस्कचेवन के स्कूलों के बारे में

प्र: क्या सैस्कचेवन में बच्चों के स्कूल जाने से संबंधित कानून की कोई शर्त है?

हां। सैस्कचेवन में सात वर्ष की उम्र के बच्चों का उनके 16 वर्ष की उम्र के हो जाने तक स्कूल जाना आवश्यक है। ज्यादातर बच्चे सात वर्ष से कम उम्र में ही स्कूल जाना शुरू कर देते हैं। आप 22 वर्ष की उम्र तक स्कूल जाना जारी रख सकते हैं।

प्र. सैस्कचेवन में शिक्षा प्रणाली की व्यवस्था कैसे की जाती है?

सैस्कचेवन में स्कूलों का आयोजन स्कूल प्रमंडलों में किया जाता है। हर स्कूल प्रमंडल का प्रबंधन एक स्कूल बोर्ड के द्वारा किया जाता है। स्कूल बोर्ड के सदस्यों का चुनाव हर चार वर्ष पर सार्वजनिक चुनाव प्रक्रिया से किया जाता है। अपने क्षेत्र में विद्यार्थियों की शिक्षा से संबद्ध नीतियों का निर्धारण स्कूल बोर्ड करते हैं।

एक स्कूल विभाग का केंद्रीय कार्यालय होता है जिसमें एक निदेशक होता है, और एक या एक से ज्यादा अधीक्षक, शिक्षा सलाहकार, शिक्षक एवं प्रशासनिक कर्मचारी हो सकते हैं।

सैस्कचेवन में हर स्कूल विभाग निम्नलिखित कार्यों के प्रति उत्तरदायी होता है:

  • पढ़ाई की व्यवस्था करना
  • स्कूल भवनों तथा अन्य सुविधाओं का रखरखाव
  • स्कूल विभाग द्वारा नियुक्त शिक्षकों, सहायक कर्मचारियों और प्रशासकों समेत सभी लोगों की भर्ती और निरीक्षण।
  • विद्यार्थियों और माता-पिता की जरूरतों को पूरा करने के लिए नीतियों एवं कार्यक्रमों का निर्धारण

स्कूल का प्रशासनिक प्रमुख उसका प्रधानाचार्य होता है, जो योग्य शिक्षकों, शिक्षण सहायकों, सलाहकारों और अन्य कर्मचारियों के साथ मिलकर स्कूल के दैनंदिन गतिविधियों को कार्यान्वित करने के लिए कार्य करता है।

स्कूल समुदाय परिषदें नीति निर्धारण करती हैं, सलाह देती हैं और अपने क्षेत्र के स्कूलों के लिए योजनाएं बनाती हैं। इन परिषदों का निर्माण माता-पिता, स्कूल के कर्मचारियों और समुदाय के सदस्यों को मिला कर किया जाता है।

स्कूल का सत्र सामान्यतः सितम्बर के आरंभ से जून के अंत तक चलता है। कक्षाएं सोमवार से शुक्रवार तक चलती हैं, सप्ताहांत (शनिवार और रविवार) में कक्षाएं नहीं होतीं। आमतौर पर, प्रत्येक स्कूल के दिन शिक्षण के कार्यक्रम 9 बजे सुबह से 12 बजे दोपहर और 1 बजे अपराह्न से 3:30 बजे अपराह्न के बीच चलाए जाते हैं। सुबह और दोपहर में कुल 30 मिनट के लिए मध्यावकाश प्रस्तुत किया जा सकता है।

कुछ स्कूलों में भोजन की योजना (अर्थात, नाश्ता, स्नैक, और/अथवा लंच) हो सकती है। यह जानने के लिए कि भोजन की योजना है या नहीं परिवार वालों को प्रधानाचार्य या अध्यापक से पूछना चाहिए। यदि इस प्रकार का कार्यक्रम अनुपलब्ध है, तो परिवार वालों को अपने बच्चों के लिए भोजन (अर्थात, नाश्ता, लंच) उपलब्ध कराना आवश्यक है।

स्कूल वर्ष के दौरान जब अध्यापकों की बैठक या व्यावसायिक गतिविधि के सेमीनार होते हैं तो छात्रों के लिए “छुट्टियाँ” होती हैं। ये तिथियाँ प्रत्येक स्कूल विभाग के लिए अलग अलग होती हैं। इन दिनों, छात्र स्कूल नहीं आते हैं।

सैस्कचेवन की स्कूल व्यवस्था के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए, आप एजुकेशन इन सैस्कचेवन: ए क्विक रेफेरेंस फॉर न्यूकमर्स (Education in Saskatchewan: A Quick Reference for Newcomers) के साथ साथ योर चाईल्डस एजुकेशन इन सैस्केचेवन: ए हैण्डबुक फॉर रिसेंट इमिग्रेंट्स (Your Child’s Education in Saskatchewan: A Handbook for Recent Immigrants) पढ़ सकते हैं। यह दोनों प्रलेख विविधि प्रकार के विभिन्न भाषाओँ में उपलब्ध हैं और शिक्षा मंत्रालय की वेबसाइट पर पोस्ट किये गए हैं (Ministry of Education’s website)।

प्र: सैस्कचेवन में शिक्षा पर आने वाले व्यय का भुगतान कौन करता है?

सैस्कचेवन में शिक्षा पर आने वाले व्यय की व्यवस्था सार्वजनिक रूप से की जाती है। इसका अर्थ है कि शिक्षा के लिए धन प्रांत की कर व्यवस्था से आता है। छात्रों को किताबें प्रदान की जाती हैं, लेकिन स्कूल की दूसरी चीज़ों जैसे कॉपियों, पेंसिलों और जिम के जूतों की व्यवस्था आपको ही करनी होती है। सैस्कचेवन के पब्लिक स्कूलों के छात्र यूनिफॉर्म नहीं पहनते।लेकिन, स्कूलों की ‘‘पोशाक संहिताएं’’ हैं – कुछ नियम जो आपको बताते हैं कि स्कूल में क्या पहनना सही और क्या स्वीकार्य है।

प्र. सैस्कचेवन में स्कूलों की संरचना प्रणाली क्या है?

 

प्रीकिंडरगार्टेन और किंडरगार्टेन

कुछ स्कूलों में तीन से पांच वर्ष तक की उम्र के बच्चों के लिए प्री-किंडरगार्टेन की व्यवस्था है। इस कार्यक्रम को शिक्षा मंत्रालय और स्कूल विभागों की सहायता प्राप्त है। कार्यक्रम के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाता है और छात्रों को स्कूल आने-जाने के लिए परिवहन की सुविधा प्रदान की जा सकती है। अपने बच्चे को इस कार्यक्रम में दाखिला दिलाने के लिए स्कूल विभाग में आवेदन करना जरूरी है। स्कूल में हर हफ्ते कम से कम 12 घंटों के लिए अधिक से अधिक 16 बच्चों का पंजीकरण किया जाता है।जिन बच्चों की मातृभाषा अंग्रेजी नहीं है, उन्हें इन कार्यक्रमों में पंजीकरण के लिए प्राथमिकता दी जा सकती है।

सैस्कचेवन के ज्यादातर स्कूलों में पांच वर्ष की उम्र के बच्चों के लिए किंडरगार्टेन प्रणाली की व्यवस्था है। किंडरगार्टेन में शुल्क आदि का कोई प्रावधान नहीं है। स्कूल विभाग के द्वारा किंडरगार्टेन की सामान्यतः रोज आधे दिन या हफ्ते के हर तीसरे दिन पूरे दिन की व्यवस्था की गई है। बच्चों को किंडरगार्टेन भेजें या नहीं, यह माता-पिता पर निर्भर है।

प्राथमिक, मध्य और माध्यमिक स्तर

सैस्कचेवन में, शिक्षा के स्तरों का क्रम विभाजन ‘‘प्राथमिक स्तर’’ (श्रेणी 1-5), ‘‘मध्य स्तर’’ (श्रेणी 6-9), और ‘‘माध्यमिक स्तर’’ (श्रेणी 10-12) के रूप में किया गया है। स्कूलों की व्यवस्था विभिन्न प्रकार से की जा सकती है और उनमें कुछ या सभी स्तरों का प्रावधान किया जा सकता है। माध्यमिक स्तर की शिक्षा को आम तौर पर हाई स्कूल कहा जाता है।

उच्च शिक्षा और प्रशिक्षण के लिए हाई स्कूल की शिक्षा पूरा करना जरूरी है।

स्कूलों में साहित्य, गणित, विज्ञान, भूगोल, इतिहास, समाज विज्ञान, कला (नाट्य कला एवं संगीत समेत), शारीरिक शिक्षा, भाषाओं और ‘‘व्यावहारिक तथा प्रायोगिक कला’’ (काष्ठ कला, यांत्रिकी तथा मानचित्रण) समेत विभिन्न विषयों की शिक्षा दी जाती है।

प्र. अपने बच्चे की शिक्षा के लिए मेरे पास कौन से विकल्प हैं?

वैसे तो आपके लिए अनेक विकल्प हैं जो आपके क्षेत्र पर निर्भर करते हैं, लेकिन सैस्कचेवन के बहुत से क्षेत्रों में यह निर्णय करना आप पर निर्भर है कि आप अपने बच्चे को किसी सार्वजनिक स्कूल में दाखिल कराएं या फिर किसी दूसरे स्कूल में।सैस्कचेवन में दोनों ही प्रकार के स्कूलों की व्यवस्था सार्वजनिक फंड in से की जाती है। सार्वजनिक स्कूलों में केवल सामान्य शिक्षा का प्रावधान है और कोई धार्मिक शिक्षा नहीं दी जाती है जबकि विशेष स्कूलों में सामान्य शिक्षा के साथ-साथ धार्मिक शिक्षा भी दी जाती है। सैस्कचेवन में विशेष स्कूल मुख्य रूप से कैथॉलिक संप्रदाय के हैं। अपने सबसे नजदीकी सार्वजनिक और विशेष (स्वतंत्र) स्कूलों की जानकारी के लिए सास्कस्कूल्स (School Divisions) देखें।

कुछ स्वतंत्र स्कूलों में ईसाई धर्म की शिक्षा दी जाती है। सस्काटून मिस्बाह स्कूल और रेगिना हुदा स्कूल जैसे कुछ स्वतंत्र स्कूल ऐसे भी हैं जहां इस्लाम धर्म की शिक्षा दी जाती है। इन स्वतंत्र स्कूलों में अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए माता-पिता शिक्षा शुल्क भी अदा करते हैं। (Saskatchewan’s Ministry of Education)सैस्कचेवन के शिक्षा मंत्रालय की वेबसाइट पर सैस्कचेवन के स्वतंत्र स्कूलों (Independent Schools) की एक सूची है।

कई सैस्कचेवन स्कूल प्रमंडलों में माध्यमिक स्तर पर दूरस्थ शिक्षा पाठ्यक्रम (Distance education courses) की व्यवस्था है।

अपने बच्चों की शिक्षा-दीक्षा का भार स्वयं उठाने के इच्छुक धार्मिक तथा दार्शनिक मतों में गंभीर आस्था रखने वाले माता-पिताओं के लिए घरेलू शिक्षा (Home schooling) की व्यवस्था भी है जो उन्हें सार्वजनिक स्कूलों में नहीं मिलती है। माता-पिताओं के लिए उनके स्थानिक स्कूल प्रमंडल में पंजीकरण कराना और शिक्षा मंत्रालय द्वारा लागू नियम-विनियमों का पालन करना अनिवार्य है (Saskatchewan’s Ministry of Education)।

प्र. मेरा बच्चा किनकिन भाषाओं में पढ़ाई कर सकता है।

सैस्कचेवन में शिक्षा-संबंधी विकल्पों में बहुमत अँग्रेज़ी की है। लेकिन आपके लिए और भी विकल्प हो सकते हैं, हालांकि यह आपके इलाके पर निर्भर करता हैं।

अपने बच्चों की शिक्षा के लिए आप फ्रांसीसी भाषा का चयन कर सकते हैं। विद्यार्थियों के लिए फ्रैंकोफोन स्कूल उपलब्ध हैं जहां की प्रमुख भाषा फ्रांसीसी है और कुछ दूसरी परिस्थितियों में। जो विद्यार्थी दूसरी भाषा के रूप में फ्रांसीसी सीखना चाहते हैं, उनके लिए फ्रेंच इमर्सन प्रोग्रैम्स उपलब्ध हैं। फ्रैंकोफोन स्कूलों की व्यवस्था सार्वजनिक रूप से की जाती है। ज्यादातर सार्वजनिक स्कूलों और स्वतंत्र स्कूलों में भी अध्ययन के समस्त कार्यक्रम के अंग के रूप में फ्रांसीसी की पढ़ाई होती है।

सस्काटून में, बिशप फ्लेमिश यूक्रेनियन बाइलिंगुअल स्कूल में किंडरगार्टेन से श्रेणी 8 तक के विद्यार्थियों को यूक्रेनियन-अंग्रेजी की शिक्षा दी जाती है (Bishop Filevich Ukrainian Bilingual School)।

सस्काटून सार्वजनिक स्कूल प्रमंडल में क्री इमर्सन की व्यवस्था भी है। सैस्कचेवन में क्री प्रथम नागरिकों (देशी लोगों) के द्वारा व्यापक स्तर पर बोली जाने वाली भाषा है। प्रथम नागरिकों के स्कूल संरक्षित स्थानों पर स्थित हैं। इन स्कूलों का संचालन विभिन्न समूहों और/या कबीलाई परिषदों द्वारा किया जाता है।

2. स्कूल में आपके बच्चे का पंजीकरण

प्र. मैं किसी उपयुक्त स्कूल का पता कैसे करूं?

अपने बच्चे की पढ़ाई की भाषा का चयन और यह तय कर लेने के बाद कि धार्मिक शिक्षण जरूरी है या नहीं, आपको यह पता लगाना चाहिए कि आपके क्षेत्र में कोई ऐसा स्कूल है या नहीं जहां आपकी जरूरतों के मुताबिक पढ़ाई होती हो। आप स्कूल प्रमंडल कार्यालय से फोन पर संपर्क कर सकते हैं (School Division office) (टेलीफोन नंबर के लिए स्थानीय टेलीफोन बुक के पीले पन्नों में ‘‘स्कूल्स’’ के नीचे देखें)।या फिर स्थानीय स्कूल का नाम पता करने के लिए आप अपने पड़ोस में जा सकते हैं, फिर उनसे स्कूल के बारे में और अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें।आपके इलाके के स्कूलों की जानकारी प्राप्त करने में आपको आपके स्थानीय रीजनल न्यूकमर गेटवे (Regional Newcomer Gateway) से भी मदद मिल सकती है।

सैस्कचेवन में ज्यादतर विद्यार्थी अपने स्थानिक क्षेत्र के भीतर आने वाले स्कूलों में ही पढ़ाई करते हैं, लेकिन अगर उन स्कूलों में आपकी जरूरत की सेवाएं उपलब्ध न हों, तो आपके बच्चे को स्कूल बस या टैक्सी से किसी दूसरे स्कूल ले जाने और लाने की निःशुल्क व्यवस्था की जा सकती है।अगर स्कूल में कुछ खास सेवाओं की व्यवस्था न हो, तो माता-पिता से परिवहन शुल्क नहीं लिया जाता है।अगर आपका बच्चा पढ़ाई के लिए निजी तौर पर किसी दूसरे स्कूल जाना चाहता हो, तो परिवहन का खर्च आपको देना पड़ सकता है।

प्र. स्कूल में अपने बच्चे का पंजीकरण मैं कैसे कराऊं?

स्कूल सत्र के दौरान कभी भी स्कूल जाकर आप अपने बच्चे का पंजीकरण करा सकते हैं।किसी स्कूल के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए आप स्कूल प्रमंडल कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं।स्कूल भ्रमण की व्यवस्था भी की जा सकती है।

स्कूल में अपने बच्चे का पंजीकरण कराने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे:

  • पहचान, नागरिकता और आयु के प्रमाण के लिए जन्म प्रमाणपत्र या अन्य दस्तावेज (उदाहरणार्थ पासपोर्ट)
  • सैस्कचेवन हेल्थ सर्विसेज़ का कार्ड या उसके समतुल्य
  • स्कूल रिकॉर्ड का एक आधिकारिक (प्रमाणित) अनुवाद (जैसे, लिखित प्रतिलिपियाँ- अच्छा हो कि स्कूल के बजाये सरकार द्वारा जारी किये गए हों); और,
  • बपतिस्मा क् प्रमाणपत्र (पृथक स्कूलों में अक्सर माँगा जाता है)।

स्कूल में आपके बच्चे के पंजीकरण से पहले कागजात का अंग्रेजी या फ्रेंच में अनुवाद होना चाहिए।अनुवादक का पता लगाने में आपको आपके स्थानिक रीजनल न्यूकमर गेटवे (Regional Newcomer Gateway) से सहायता मिल सकती है।

3. परिवार और स्कूल साथ मिल कर कैसे काम करते हैं?

प्र. अपने बच्चे की शिक्षा में मातापिता की भूमिका क्या होती है?

अगर पढ़ाई से संबंधित कोई प्रश्न हो, तो बच्चों के माता-पिताओं या अभिभावकों, जो सैस्कचेवन में नए हैं, को इस बारे में अपने बच्चे के शिक्षक या स्कूल के प्रधानाचार्य से बराबर बात करते रहना चाहिए।

कनाडा में शिक्षण-प्रशिक्षण में परिवार की भूमिका अहम होती है क्योंकि इससे विद्यार्थियों को उनकी पढ़ाई सफलतापूर्वक पूरी करने में सहायता मिलती है।स्कूल या कक्षा में अपने बच्चे के शिक्षक की सहायता करने के लिए समय और अपनी प्रतिभा का योगदान देने हेतु माता-पिता का स्वागत है।आप क्या कर सकते हैं, इसका पता लगाने के लिए, अपने बच्चे के शिक्षक या स्कूल के प्रधानाचार्य से बात करें।

स्कूल माता-पिताओं और अभिभावकों को स्कूल की गतिविधियों से अवगत कराने का प्रयास करते हैं। स्कूल जरूरी सूचनाओं और अन्य जानकारियों (अनुस्मरणपत्रों) के साथ किसी नियमित न्यूजलेटर का प्रकाशन कर सकते हैं या स्कूल की वेबसाइट पर उद्घोषणाओं को स्थान दे सकते हैं।बच्चों के स्कूलों में होने वाले कार्यक्रमों की जानकारी के लिए उनके माता-पिता से न्यूजलेटर पढ़ने या वेबसाइट देखने का आग्रह किया जाता है।

स्कूल समुदाय परिषदें नीति निर्धारण करती हैं, सलाह देती हैं और अपने-अपने क्षेत्र के स्कूलों के लिए योजनाएं बनाती हैं।परिषदों का गठन माता-पिता, स्कूल के कर्मचारियों और समुदाय के सदस्यों को मिला कर किया जाता है।

स्कूल माता-पिता या अभिभावकों को विद्यार्थियों की प्रगति की जानकारी नियमित रूप से देते रहते हैं।यह कार्य औपचारिक स्तर पर लिखित प्रगति रिपोर्ट देकर या अनौपचारिक स्तर पर टेलीफोन के द्वारा किया जा सकता है।प्रगति रिपोर्ट पर चर्चा के लिए स्कूल के द्वारा माता-पिता-शिक्षक साक्षात्कारों और सम्मेलनों का आयोजन किया जाता है, जिनमें माता-पिता, विद्यार्थी, और शिक्षक शामिल होते हैं। सैस्कचेवन में शिक्षण-प्रशिक्षण का यह एक नियमित हिस्सा है। अपने बच्चों की प्रगति जानने के लिए सभी माता-पिता को स्कूल आने के लिए आमंत्रित किया जाता है।

यदि कोई प्रश्न या चिंता हो तो स्कूल कार्यालय को फोन करने और अध्यापक या प्रधानाचार्य के लिए सन्देश छोड़ने के लिए माता पिता को प्रोत्साहित किया जाता है। माता पिता को अपना नाम और नंबर और अपने बच्चों का नाम और अध्यापक या प्रधानाचार्य के लिए उन्हें वापस फोन करने का सर्वोत्तम समय प्रदान करना चाहिए।

प्र. मातापिता के रूप में मेरे क्या अधिकार और कर्तव्य हैं?

धार्मिक छुट्टियों के दिन, या अगर आपके बच्चे की चिकित्सा या उसके दांतों की चिकित्सा के लिए समय तय हो, या फिर वह बीमार हो, तो उसे अपने घर पर रखना आपका अधिकार हैअगर स्कूल में ऐसे कार्यक्रम हों जो आपके धार्मिक मतों के विरुद्ध हों, तो आप अपने बच्चे को उनमें भाग न लेने के लिए कह सकते हैं।

यह सुनिश्चित करना आपका कर्तव्य है कि आपका बच्चा समय पर और नियमित रूप से स्कूल पहुंचे।अगर आपका बच्चा गैरहाजिर हो, तो उस दिन इसकी सूचना आपको जल्द से जल्द स्कूल को देनी चाहिए।

प्र. किसी विद्यार्थी के अधिकार और कर्तव्य क्या हैं?

बच्चों, शिक्षकों, कर्मचारियों तथा स्कूल की संपत्ति का सम्मान और सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए कुछ दिशानिर्देश हैं।भेदभाव, जातिवाद, डराना-धमकाना और उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किए जाते हैं।विद्यार्थियों और कर्मचारियों का शारीरिक या मौखिक अपमान नहीं किया जा सकता है।सामान्यतया सैस्कचेवन में दया और निर्मल व्यवहार के साथ अनुशासन का पालन किया जाता है।विद्यार्थियों को शारीरिक दंड नहीं दिया जाता है।हिंसा किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाती।

प्रत्येक स्कूल के लिए बदमाशी विरोधी निति का होना आवश्यक है। अपने बच्चे के स्कूल की निति के बारे में जानकारी प्राप्त करने और घर ले जाने के लिए एक प्रति की मांग करें।

यदि आपके बच्चे के साथ बदमाशी की गयी है, तो उसे बताएं कि बदमाशी करना गलत है, और ये कि ये उसकी गलती नहीं है, और ये कि आप खुश हैं कि इसके बारे में उसने आपको बताया। सुनिश्चित वर्णन के बारे में पूछें। बातचीत का प्रलेख तैयार करें।

अपने बच्चे के कक्षा अध्यापक से संपर्क करें और अपनी चिंताओं को साझा करें। यदि आप अब भी चिंतित हैं और/या बदमाशी अब भी जारी है, तो स्कूल के प्रधानाचार्य से संपर्क करें और उनसे और कक्षा अध्यापक से मुलाकात करने का निवेदन करें। आपके बच्चे की आयु और स्थिति पर निर्भर करते हुए, आप अपने बच्चे को बैठक में शामिल करने का निर्णय कर सकते हैं। स्कूल की निति और बदमाशी पर ध्यान देने की योजना पर चर्चा करें। स्कूल से संपर्क करते हुए प्रगति अद्यतन की जाँच करें।

इसके अतिरिक्त, अपने बच्चे से संबंधों, उत्पीड़न, स्वीकार्य ऑनलाइन आचरण, और बदमाशी के बारे में नियमित रूप से बात करें। ऑनलाइन गतिविधियों के साथ अपने आप को परिचित कराएं। वेबसाईटों, ब्लॉग्स, चैटरूम, और cyberlingo आपका बच्चा जिसका उपयोग कर सकता है के बारे में सीखें। यदि आपका बच्चा बदमाशी का शिकार है या बदमाशी का साक्षी है तो उसके साथ चर्चा करें कि क्या करना चाहिए (उदाहरणार्थ, रुकने के लिए कहना, आगे बढ़ जाना, अध्यापक से रिपोर्ट करना)।

सैस्कचेवन के स्कूल लैंगिक समानता के प्रति प्रतिबद्ध हैं, और सभी विविध छात्रों को महत्व भी दिया जाता है और स्वीकार भी किया जाता है।स्कूल व्यवस्था विभिन्न जातियों और संस्कृतियों की पृष्ठभूमियों और धार्मिक मतों के छात्रों के सम्मान के प्रति प्रतिबद्ध है।सैस्कचेवन के स्कूलों में मूल नागरिकों और मेतिसों (देश के मूल वासियों) को विषयों, विचार-कौशलों और ज्ञान के मार्गों की शिक्षा दी जाती है।

छात्रों से स्कूल समय पर पहुंचने और कक्षा में नियमित रूप से भाग लेने की आशा की जाती है।स्कूल में बातचीत और क्रियाकलापों में समुचित आचरण और पढ़ाई में मेहनत तथा शिक्षक द्वारा दिए गए किसी गृह कार्य को पूरा करना छात्रों का कर्तव्य है।

4. अन्य कार्यक्रम तथा सेवाएं

प्र. क्या स्कूलों में अकादमिक प्रशिक्षण के अतिरिक्त भी कुछ कराया जाता है?

विभिन्न कक्षाओं के छात्र और शिक्षकगण स्वैच्छिक रूप से कार्य करने के इच्छुक माता-पिताओं की सहायता से समुदाय के लोगों से मिलने और बाह्य शिक्षा में भाग लेने के लिए समय-समय पर क्षेत्र-भ्रमण करते हैं।हाई स्कूल के स्तर पर गाड़ी चलाने की शिक्षा दी जाती है, जिससे कक्षा में सैद्धांतिक और कार में व्यावहारिक प्रशिक्षण दिया जाता है।हाई स्कूल में कार्य-आधारित शिक्षा का प्रावधान भी है जिसमें उन्हें पढ़ाई पूरी करने के बाद कार्यस्थल पर कार्य करने का ज्ञान प्राप्त करने का अवसर दिया जाता है।

स्कूलों में पढ़ाई के अतिरिक्त विषयों की शिक्षा भी दी जाती है जिन्हें ‘‘पाठ्येतर’’ गतिविधियां कही जाती है जिनमें स्कूल क्लब, संगीत समूह या खेलों की टीमें शामिल होती हैं।

प्र. स्कूल में अंग्रेजी या फ्रेंच सीखने में मेरे बच्चे को सहायता कैसे मिल सकती है?

पूरे सैस्कचेवन में कई स्कूलों में ‘‘इंग्लिश ऐज एन एडिशनल लैंग्वेज (इएएल)’’ (“English as an Additional Language (EAL)”)नाम से अंग्रेजी शिक्षा की कक्षाओं व्यवस्था है।छात्र नियमित रूप से कक्षाओं में भाग लेते हैं, लेकिन अपनी निजी जरूरतों के मुताबिक अतिरिक्त भाषा की शिक्षा ग्रहण करते हैं।18 वर्ष से ज्यादा उम्र के जिन छात्रों को अंग्रेजी भाषा की शिक्षा की जरूरत हो, उन्हें यह पता लगाने के लिए कि किस तरह के कार्यक्रम उपलब्ध हैं, अपने आसपास के किसी हाई स्कूल या क्षेत्रीय कॉलेज से संपर्क करना चाहिए।सैस्कचेवन में क्षेत्रीय कॉलेजों की सूची के लिए, कृपया वेबसाइट पर सैस्कचेवन रीजनल कालेज (Saskatchewan Regional Colleges) देखें।

जिन छात्रों की पढ़ाई का माध्यम फ्रेंच है, उनके लिए स्कूल में सहायता की व्यवस्था भी है।

प्र: जिन बच्चों को शारीरिक, शैक्षिक या संवेदात्मक सहायता की विशेष जरूरत हो, क्या उन्हें सहायता दी जाती है?

हां।किसी बच्चे का विकास देर से हो या उसके विकास में विलंब की आशंका हो, तो इससे बचने के लिए उसे अर्ली चाइल्डहुड इंटर्वेंशन प्रोग्राम (इसीआइपी) (Early Childhood Intervention Program (ECIP)) की सहायता मिल सकती है। ECIP इसीआईपी के कर्मचारी पूरे सैस्कचेवन में हर जगह हैं।वे जिन बच्चों को विशेष देखभाल की जरूरत हो, उनके परिवारों का संपर्क चिकित्सा विशेषज्ञों, वाक् विशेषज्ञों, नर्सों और मनोचिकित्सकों जैसे व्यावसायिक कार्यकर्ताओं से कराते हैं। यह कार्यक्रम निःशुल्क है।स्कूल में, विशेष देखभाल के जरूरतमंद (विकलांग और अविकसित) छात्रों को सेवाएं और व्यावसायिक कर्मचारियों की सहायता निःशुल्क दी जाती है।समय-समय पर उन्हें खास किस्म का उपकरण भी दिया जाता है।उदाहरण के लिए, ह्वीलचेयर पर चलने वाले बच्चों को काम करने के लिए खास किस्म की मेजों और दृष्टिहीन बच्चों को ब्रेल सामग्री की जरूरत पड़ सकती है। छात्र सहायता सेवा (Student Support Services) के बारे में और जानकारी सैस्कचेवन शिक्षा मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध है।

प्र. क्या पढ़ाई में प्रतिभावान छात्रों के लिए कोई खास कार्यक्रम है?

सैस्कचेवन में स्कूल प्रमंडल पढ़ाई में तेज छात्रों की विभिन्न तरीकों से सहायता करते हैं, जैसे इन चीजों की व्यवस्था कर:

  • नियमित कक्षा में संवर्धित शैक्षिक कार्यक्रम
  • शैक्षिक योग्यताओं का संवर्धन करने वाली शिक्षण विधियां
  • ‘‘उन्नत’’ पाठ्यक्रमों में निजी या सामूहिक तौर पर शिक्षण

प्र. मेरा बच्चा/बच्ची अपनी भाषा और संस्कृति की पढ़ाई कैसे कर सकता/सकती है?

पता करें कि आपके इलाके में विरासत या अंतरराष्ट्रीया भाषा की शिक्षा देने वाली कोई सामुदायिक संस्था है या नहीं।आम तौर पर इन कक्षाओं का आयोजन सप्ताहांत के दिनों में शाम के समय किया जाता है, जिसके लिए नाम मात्र का शुल्क लिया जाता है।आप या आपका बच्चा जातीय-सांस्कृतिक गायक-मंडली, नृत्य समूह या नाट्य क्लब में भाग ले सकता है।अधिक जानकारी के लिए, सैस्कचेवन ऑर्गेनाइजेशन फॉर हेरिटेज लैंग्वेजेज (Saskatchewan Organization for Heritage Languages) की वेबसाइट देखें।

प्र. क्या स्कूल के समय से पहले और समय समाप्त होने के बाद बच्चों की देखरेख की व्यवस्था है?

ज्यादातर शिशु संरक्षण केंद्रों में स्कूल का समय शुरू होने से पहले और समाप्त होने के बाद और स्कूलों के बंद होने के दिनों में स्कूली बच्चों की देखरेख की व्यवस्था है।स्कूली बच्चों के कामकाजी माता-पिताओं की सुविधा के लिए कुछ स्कूलों में भी स्कूल का समय शुरू होने से पहले और समाप्त होने के बाद बच्चों की देखरेख की व्यवस्था है।स्कूलों या सामुदायिक संस्थाओं के द्वारा समय-समय पर छुट्टियों के दौरान दिन भर के लिए विशेष शिविरों और कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।स्कूल के पहले और बाद के देखरेख कार्यक्रमों की जानकारी के लिए अपने इलाके के स्कूल प्रमंडल कार्यालय या रीजनल न्यूकमर गेटवे (Regional Newcomer Gateway) से फोन पर संपर्क करें।

प्र. जिन बच्चों का स्कूल में दाखिला नहीं हुआ हो, उनके लिए क्या कार्यक्रम उपलब्ध है?

 

शिशु संरक्षण और आरंभिक स्कूल/प्लेस्कूल

सैस्कचेवन में बहुत छोटे बच्चों के लिए निर्धारित कार्यक्रमों में शिशु संरक्षण, आरंभिक स्कूल और प्लेस्कूल शामिल हैं।इन कार्यक्रमों में बच्चों को सामान्यतः खेल, कथा कहानियों और गीत-संगीत के माध्यम से शिक्षा और दूसरे बच्चों के साथ बातचीत के माध्यम से उनमें भाषा के विकास को बढ़ावा दिया जाता है। बच्चों को इन कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के लिए भेजें या नहीं, यह उनके परिवारों पर निर्भर करता है।

  • शिशु संरक्षण – शिशु संरक्षण केंद्रों और निजी घरों में लाइसेंस प्राप्त शिशु संरक्षण की व्यवस्था होती है।यह व्यवस्था छह हफ्तों से 12 वर्ष तक की उम्र के बच्चों के लिए है।लाइसेंस प्राप्त शिशु संरक्षण का विनियमन और आंशिक वित्त पोषण प्रांत के द्वारा किया जाता है।शिशु संरक्षण केंद्रों का संचालन सामान्यतया लाभनिरपेक्ष निगमों या सहकारी संस्थाओं के द्वारा किया जाता है जिनके सदस्य पंजीकृत बच्चों के माता-पिता होते हैं।बच्चों की देखभाल करने वाले के द्वारा निर्धारित शुल्क का भुगतान माता-पिता करते हैं।लाइसेंस प्राप्त शिशु सरंक्षण केंद्रों का पता लगाने में कठिनाई हो सकती है क्योंकि यह सेवा मुहैया कराने वाले लोग बहुत कम हैं।इसलिए यह जरूरी है कि जिस दिन आप अपने बच्चे को दाखिल कराना चाहें, उससे जितना पहले हो सके जगह आरक्षित करा लें।इस बारे में और अधिक जानकारी सैस्कचेवन के शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) से प्राप्त की जा सकती है।
  • प्रीस्कूल/प्लेस्कूल – – सैस्कचेवन में ज्यादातर समुदायों में तीन या चार वर्ष तक की उम्र के बच्चों के लिए प्रीस्कूल या प्लेस्कूल की व्यवस्था है।कुछ कार्यक्रमों में निर्दिष्ट भाषाओं में शिक्षा देने जैसी बातों पर विशेष ध्यान दिया जाता है।सैस्कचेवन में प्रीस्कूलों के संचालन पर प्रांत का नियंत्रण नहीं होता है और इसके लिए प्रांत से कोई वित्तीय सहायता नहीं मिलती है।ज्यादातर कार्यक्रमों में दाखिले के लिए शुल्क लिया जाता है और शुल्कों में पूरे प्रांत में जगह-जगह पर भिन्नता होती है।स्थानीय प्रीस्कूल या प्लेस्कूल कार्यक्रमों के बारे में अपने स्कूल या स्कूल प्रमंडल, या फिर स्थानीय शिशु संरक्षा केंद्रों से पता करें।इस कार्य में आपको आपके गांव, शहर या नगरपालिका कार्यालयों अथवा रीजनल न्यूकमर गेटवे (Regional Newcomer Gateway) से भी सहायता मिल सकती है।


Comments are closed.